बिहार गर्वनर केसरीनाथ त्रिपाठी ने जेडीयू के 14, बीजेपी के 11 और एलजेपी एक विधायक को मंत्री पद की शपथ दिलाई - Mann Samachar - Latest News, breaking news and updates from all over India and world
Breaking News

Saturday, July 29, 2017

Mann Samachar

बिहार गर्वनर केसरीनाथ त्रिपाठी ने जेडीयू के 14, बीजेपी के 11 और एलजेपी एक विधायक को मंत्री पद की शपथ दिलाई

नीतीश कैबिनेट का शनिवार को विस्तार हुआ। गर्वनर केसरीनाथ त्रिपाठी ने जेडीयू के 14, बीजेपी के 11 और एलजेपी एक विधायक को मंत्री पद की शपथ दिलाई
। इस तरह कुल 26 मंत्रियों ने शपथ ली। बीजेपी के मंगल पांडे को भी शपथ लेना था, लेकिन वे पहुंच नहीं पाए। बता दें कि महागंठबधन (आरजेडी-कांग्रेस और जेडीयू) से अलग होने के बाद गुरुवार को नीतीश कुमार ने सीएम पद की छठी बार शपथ ली थी। वहीं, बीजेपी के सुशील कुमार मोदी को नई सरकार में डिप्टी सीएम की जिम्मेदारी दी गई। उन्होंने भी नीतीश के साथ शपथ ली थी। बाद में JDU-BJP अलायंस ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट जीता। देर शाम विभागों का बंटवारा भी कर दिया गया। इन मंत्रियों ने शपथ ली... 
 
 
जेडीयू के 14 विधायकों को जगह मिली
1) विजेंद्र प्रसाद यादव: सुपौल से जेडीयू विधायक हैं। 2000 से लगातार विधायक रहे हैं। पिछली सरकार में ऊर्जा मंत्री थे।
2) श्रवण कुमार: नालंदा से जेडीयू के विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
3) राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह: नीतीश के करीबी हैं और लालू-नीतीश गठबंधन के दौरान PWD मंत्री रह चुके हैं। लोकसभा और राज्यसभा मेंबर भी रह चुके हैं।
4) जय कुमार सिंह: दिनारा सीट से जेडीयू के विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
5) कृष्ण नंदन वर्मा: घोसी से जेडीयू विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे।
6) महेश्वर हजारी: कल्याणपुर से जेडीयू विधायक हैं। रामविलास पासवान के रिश्तेदार हैं और पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
7) शैलेष कुमार: जमालपुर से जेडीयू के विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
8) कुमारी मंजू वर्मा: चेरिया बरियारपुर से जेडीयू विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थीं। 
9) संतोष निराला: राजपुर से जेडीयू विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे।
10) खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद: सिकटा से जेडीयू विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
11) मदन साहनी: गौराबोराम से जेडीयू विधायक हैं। पिछली सरकार में भी मंत्री थे। 
12) कपिल देव कामत: बाबूबरही से जेडीयू विधायक हैं। 
13) दिनेश चंद्र यादव: सिमरी बख्तियारपुर से जेडीयू विधायक हैं।  
14) रमेश ऋषि देव: सिंघेश्वर से जेडीयू विधायक हैं। 
 
बीजेपी के 11 विधायक बने मंत्री
15) प्रेम कुमार: अति पिछड़ा वर्ग से आते हैं। 7 बार विधायक रहे। गया से बीजेपी के विधायक हैं। पिछली सरकार में नेता विपक्ष भी रह चुके हैं।
16) नंदकिशोर यादव: बीजेपी के एमएल हैं। पहले भी बिहार में मंत्री रह चुके हैं।
17) रामनारायण मंडल: बीजेपी विधायक और पार्टी के वाइस प्रेसिडेंट हैं। 
18) प्रमोद कुमार: पूर्वी चंपारण से बीजेपी विधायक हैं।
19) विनोद नारायण झा: बीजेपी के एमएलसी हैं। 
20) सुरेश कुमार शर्मा: मुजफ्फरपुर से बीजेपी विधायक हैं।
21) विजय कुमार सिन्हा: लखीसराय से बीजेपी विधायक हैं। 
22) राणा रणधीर सिंह: मधुबन से बीजेपी विधायक हैं। 
23) विनोद कुमार सिंह: प्राणपुर से बीजेपी विधायक हैं।
24) कृष्ण कुमार ऋषि: बनमनखी से बीजेपी विधायक हैं। 
25) ब्रज किशोर बिंद: चैनपुर से बीजेपी विधायक हैं। 
 
एलजेपी से एक विधायक मंत्री बना
26) पशुपतिनाथ पारस: रामविलास पासवान की पार्टी एलजेपी के विधायक हैं। रामविलास के भाई भी हैं। 
 
किसके पास कौन सा विभाग?
 
- नीतीश कुमार: गृह, सामान्य प्रशासन, निगरानी
- सुशील कुमार मोदी: वित्त, वाणिज्य कल, वन पर्यावरण, और आईटी
- विजेंद्र प्रसाद यादव: ऊर्जा, उत्पाद, मद्य निषेध
- प्रेम कुमार:                  कृषि
- राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह: जल संसाधन और योजना
- नंदकिशोर यादव:          पथ निर्माण
- श्रवण कुमार:            ग्रामीण विकास और संसदीय कार्यकर्ता
- रामनारायण मंडल: राजस्व भूमि सुधार
- जय कुमार सिंह: उद्योग और विज्ञान प्रावैधिकी
- प्रमोद कुमार:            पर्यटन
- कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा: शिक्षा
- महेश्वर हजारी: भवन निर्माण
- विनोद नारायण झा: पीएचईडी
- शैलेश कुमार :            ग्रामीण कार्य
- सुरेश कुमार शर्मा:  नगर विकास और आवास
- मंजू वर्मा:                  समाज कल्याण
- विजय कुमार सिन्हा: श्रम संसाधन
- संतोष कुमार निराला: परिवहन
 
जेडीयू को केंद्र में मिल सकती है जगह 
- जेडीयू को केंद्र सरकार में भी जगह मिल सकती है। कहा जा रहा है कि उसके 2 सांसद केंद्र में मंत्री बन सकते हैं। इसके लिए शरद यादव और संतोष कुशवाहा के नाम की चर्चा है।
 
108 के मुकाबले 131 वोटों से जीता था फ्लोर टेस्ट
- इससे पहले, JDU-BJP अलायंस ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट जीत लिया। NDA को 131 वोट हासिल हुए और RJD-कांग्रेस अलायंस को 108 वोट मिले। BJP-JDU को जीत के लिए 243 विधायकों में से 122 मेंबर्स का सपोर्ट चाहिए था। बता दें कि JDU के पास 71 और बीजेपी के 58 विधायक हैं। उधर, RJD के 80, कांग्रेस के 27 और CPI-ML के तीन विधायक हैं। इस लिहाज से अपोजिशन को 110 वोट मिलने चाहिए थे, लेकिन उसे इस आंकड़े से भी 2 वोट कम मिले। 
 
सचेत रहें, मैं सबको आईना दिखाऊंगा: नीतीश
- नीतीश ने शुक्रवार को विधानसभा में कहा था, "सबको आईना दिखाऊंगा। बाहर भी, अंदर भी। वोट देने वाली जनता परेशान हो रही थी। सदन की मर्यादा ना भूलें, सचेत रहें। वरना हम सबको हिसाब देंगे और आइना दिखाएंगे विधानसभा के बाहर।"

Subscribe to this Website via Email :
Previous
Next Post »