भोपाल पुलिस बनकर एक को लूटा, आरोपी गिरफ्तार - Mann Samachar - Latest News, breaking news and updates from all over India and world
Breaking News

Friday, February 24, 2017

Mann Samachar

भोपाल पुलिस बनकर एक को लूटा, आरोपी गिरफ्तार

भोपाल। राजधानी भोपाल के आनंद नगर इलाके
में एक युवक ने अपने आप को भोपाल पुलिस का
कर्मचारी बतलाकर, पुताई
कर्मचारी से पैसे ऐंठे। नकली
पुलिस कर्मचारी बनने के बाद युवक के हौसले
इतने ज्यादा बुलंद हो गए, कि उसने पुताई
कर्मचारी के पास ज्यादा पैसे नहीं
होने के बाद उसके पिता से पैसे मंगवाए और ऐंठ लिए।
खबर है कि जब युवक ने इस वारदात को अंजाम दिया, तो
वह नशे में धुत था।
जब पुताई कर्मचारी ने इस घटना
की शिकायत संबंधित आनंद नगर
चौकी में दर्ज करवाई, तो पुलिस ने
नकली पुलिस वाले की तलाश
की। पुलिस की तलाश में
नकली पुलिस कर्मचारी बनकर
लूट करने वाले युवक को पकड़ा गया।
पुलिस चौकरी आनंद नगर प्रभारी
एसआई नीलेश अवस्थी ने बताया कि बीते बुधवार रात
करीब ग्यारह बजे पुताई का काम करने वाला
राजकुमार चौहान पिता लीलाराम चौहान उम्र 30
वर्ष निवासी हथाईखेड़ा, अपने दोस्त
ब्रदीप्रसाद के साथ रत्नागिरी
तिराहे पर गाड़ी सुधरवाने के लिए पहुंचा।
राजकुमार की गाड़ी की
चैन टूट गई थी, जिसे वह
रत्नागिरी तिराहे पर एक मैकेनिक से सुधरवा
रहा था।
एसआई नीलेश अवस्थी ने इंडिया
वन समाचार को आगे बताया कि गाड़ी सुधरवाते
समय नशे में धुत एक युवक मौके पर पहुंचा और
राजकुमार से गाली-गलौच करने लगा। जब
राजकुमार ने गाली-गलौच का विरोध किया, तो
युवक ने अपने आप को पुलिस कर्मचारी
बतलाकर धमकी दी। इस
धमकी से राजकुमार घबरा गया।
एसआई अवस्थी का कहना है कि इसके बाद
युवक ने राजकुमार और उसके दोस्त से पैसे मांगे।
राजकुमार ने अपने पास रखे दो हजार रुपए नकद, युवक को
दे दिए। इतने में भी युवक का मन
नहीं भरा, तो उसने राजकुमार को अपने घर से
पैसे लाने को कहा। पैसे नहीं देने पर युवक ने
राजकुमार के दोस्त बद्रीप्रसाद को जान से
मारने की धमकी दे
डाली।
एसआई अवस्थी का कहना है कि इस बात से
घबराकर राजकुमार ने अपने पिता लीला राम को
फोन लगाकर पैसे मंगवाए। उसके पिता लीला राम
रत्नागिरी तिराहे पहुंचे और युवक को छह
हजार रुपए नकद दे दिया। इसके बाद युवक ने दोनों को छोड़
दिया।
एसआई अवस्थी का कहना है कि इस घटना
के बाद राजकुमार अपने पिता के साथ आनंद नगर
चौकी पहुंचा, तो पुलिस ने ऐसे कोई
भी कर्मचारी होने की
बात से इंकार किया।
एसआई अवस्थी का कहना है कि राजकुमार
द्वारा की गई शिकायत के आधार पर
नकली पुलिस कर्मचारी
की तलाश शुरु की गई।
रत्नागिरी तिराहे पर की गई पूछताछ
के बाद नकली पुलिस कर्मचारी का
पता लग पाया

Subscribe to this Website via Email :
Previous
Next Post »