भोपाल: महिला से मिलने के बाद बोले मंत्री: 'साकिब इतने अच्छे हैं, तो उन्हें कमिश्नर-कलेक्टर बना दो - Mann Samachar - Latest News, breaking news and updates from all over India and world
Breaking News

Tuesday, January 31, 2017

Mann Samachar

भोपाल: महिला से मिलने के बाद बोले मंत्री: 'साकिब इतने अच्छे हैं, तो उन्हें कमिश्नर-कलेक्टर बना दो





भोपाल। अरेरा हिल्स पर अतिक्रमण हटाने को लेकर हुए विवाद में घायल मीरा चौरसिया की मेडिकल रिपोर्ट में पेट में गंभीर चोट की पुष्टि हो गई है। इस बीच मंगलवार को उच्च शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता और MIC सदस्य शंकर मकरोनिया जेपी हॉस्पिटल में भर्ती महिला की तबियत पूछने पहुंचे। शाकिब को जोन 5 का जोनल अधिकारी बनाने पर मंत्री नाराज...
थाना घेरने पहुंचे लोग...
मारपीट को लेकर गुस्साए लोगों ने मंगलवार को एमपी नगर थाने के घेराव किया। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने गृहमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते हुए साकिब के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की।
-मंगलवार सुबह उच्च शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता और MIC सदस्य शंकर मकरोनिया जेपी हॉस्पिटल में भर्ती महिला की तबियत देखने पहुंचे। इस दौरान मंत्री ने शाकिब को जोन-5 का जोनल अधिकारी बनाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने तंज कसा कि, अगर शाकिब इतने अच्छे कर्मचारी हैं, तो उन्हें तो कमिश्नर-कलेक्टर बना देना चाहिए।
पेट में गंभीर चोट है
महिला की मेडिकल जांच में पेट में गंभीर चोट की पुष्टि हुई है। महिला की हालत स्थिर है।डॉ. आईके चुघ, सिविल सर्जन, जेपी अस्पताल
आज सौंपेंगे रिपोर्ट
महिला के बयान लिए हैं। मंगलवार को रिपोर्ट सौंप दूंगा। -रवि सिंह, एसडीएम
यह है मामला...
28 जनवरी को निगम अमला भीम नगर में अतिक्रमण हटाने पहुंचा था। इस दौरान हुए विवाद में मीरा गंभीर रूप से घायल हो गईं। महिला और उनके पति ने साकिब पर पेट में लात मारने का आरोप लगाया।
इस मामले में राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता की नाराजगी को देखते हुए नगरीय विकास विभाग के कमिश्नर विवेक अग्रवाल, कलेक्टर निशांत वरवडे, निगमायुक्त छवि भारद्वाज और एसडीएम रवि सिंह अस्पताल पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने पीड़ित महिला और उनके पति लक्ष्मण से चर्चा की। एसडीएम ने महिला के बयान दर्ज किए और घटना स्थल का मुआयना किया। एसडीएम ने घटनास्थल पर भी लोगों से चर्चा की थी।
उधर, कलेक्टोरेट में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि अब एडीएम की अनुमति के बाद ही अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई होगी। कलेक्टर निशांत वरवड़े ने बताया कि निगम सहित जिस विभाग या एजेंसी को अतिक्रमण हटाना है, वह शुक्रवार को प्रस्ताव एडीएम को देगी। इसके अनुसार पुलिस बल मुहैया कराया जाएगा। इसमें महिला पुलिस बल और महिला अधिकारी को भी शामिल किया जाएगा। खास बात यह है कि सप्ताह में केवल एक दिन रविवार को ही अतिक्रमण हटाया जाएगा।
सितंबर में भोपाल मध्य के विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह के नेतृत्व में निगम के अतिक्रमण स्टोर में हुई गुमठियों की लूट के बाद विवाद बढ़ रहे हैं। निगम अमला जहां भी जाता है कोई न कोई नेता या गुमठी व्यवसायी सामने आ जाता है। हबीबगंज स्टेशन के सामने से गुमठियां हटाने को लेकर भी भारी विरोध हुआ था।
एमआईसी सदस्य शंकर मकोरिया, कैलाश मिश्रा और जोन अध्यक्ष राजेश खटीक आदि भी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने महापौर आलोक शर्मा से चर्चा की। इसके बाद महापौर ने साकिब को हटाने के निर्देश दिए। दोपहर बाद निगमायुक्त ने साकिब को हटाकर प्रेमशंकर शुक्ला को अतिक्रमण अमले का प्रभार सौंपने के आदेश जारी कर दिए। शुक्ला अब तक होर्डिंग और तह बाजारी के प्रभारी थे। साकिब को जोन 5 का जोन अधिकारी बनाया गया है। जोन 5 के जेडओ शैलेंद्र पारे को संपत्ति कर अधिकारी अर्चना शर्मा के अधीन पदस्थ किया गया है।

Subscribe to this Website via Email :
Previous
Next Post »