Mann Samachar - Latest News, breaking news and updates from all over India and world
Breaking News

Saturday, October 9, 2021

Mann Samachar

सीहोर में सन शाइन ब्यूटी पार्लर का हुआ उद्घाटन

 सीहोर में सन शाइन ब्यूटी पार्लर का हुआ उद्घाटन श्रीमती कविता राठोर द्वारा खोला गया बहुत ही हाईटेक और सभी सुविधा युक्त पता स्टेशन रोड यशराज गार्डन के सामने




Mann Samachar

विदिशा न्यायालय द्वारा मोटरसाइकिल सुपुर्दगी आवेदन निरस्त किया गया





विदिशा। माननीय न्यायालय श्री राकेष सनोडिया जेएमएफसी विदिषा द्वारा थाना ग्यारसपुर के  पी.ओ.आर क्रमांक 107/62 भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 52, 26(1)(क), 41 एवं म0प्र0 वनोपज व्यापार अधिनियम 1969 की धारा 5, 15, 16 में जप्त की गई 01 मोटरसाइकल के सुपुर्दगी के लिए आरोपी इंसाफ खां के द्वारा माननीय न्यायालय के समक्ष सुपुर्दगी आवेदन लाया गया था।उक्त सुपुर्दगी आवेदन पर सहायक जिला लोक अभियेाजन अधिकारी श्रीमती ज्योति गोयल के द्वारा माननीय न्यायालय के समक्ष यह तर्क प्रस्तुत किया गया कि जप्त शुदा मोटरसाईकिल के संबंध में राजसात की कार्यवाही विचाराधीन है अतः उक्त सुपुर्दगी आवेदन को निरस्त किया जाए। न्यायालय द्वारा उनके तर्क से सहमत होते हुए सुपुर्दगी आवेदन को निरस्त किया गया। घटना इस प्रकार है कि दिनांक 20.09.2021 को मुखबिर की सूचना के आधार पर श्रीमान वन परिक्षेत्र अधिकारी ग्यारसपुर के निर्देषन एवं हमराह में वी.गा. गुलौठा दीवान सिंह किरार, श्री संजय मीना वी.गा. कोलुआ जोतपुर, श्री शोभाराम विष्वकर्मा वी.गा. मानौरा, अनज शर्मा वी.गा. गंभीरिया, संगीता अहिरवार वी.गा. ओलिंजा, श्री भरत मिश्रा वी.गा. चोपड़ा एवं अन्य सहायक स्टाफ के साथ मुखबिर की सूचना पर बताए स्थान पर पहुंचे वहां पर देखा घटनास्थल पर छह आरोपी गढ़ एक पिक अप दो मोटरसाइकिल खड़ी है घेरा बनाकर पास जाकर देखा  खे लकड़ी  पिकअप में भरी थी घटनास्थल से एक पिक अप दो मोटरसाइकिल बरामद हुई एक मोटरसाइकिल के संबंध में  इंसाफ खा पुत्र असफाक खां द्वारा सुपुर्दगी आवेदन न्यायालय में पेश किया गया परिस्थितियों को देखते हुए मोटरसाइकल को सुपुर्दगी पर दिया जाना उचित प्रतीत नहीं होता है। उक्त प्रकरण में पैरवी श्रीमती ज्योति गोयल सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी के द्वारा की गई।

मीडिया सेल प्रभारी

 जिला विदिषा

Thursday, October 7, 2021

Mann Samachar

विदिशा डण्डे से मारपीट करने वाले आरोपीगण को । 2000/-2000/- रूपये अर्थदंड एवं न्यायालय उठने तक की सजा से दण्डित किया गया


विदिषा (गंजबासौदा)। माननीय न्यायालय श्रीमती सपना शर्मा न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तहसील गंजबासौदा जिला विदिषा द्वारा डण्डे से मारपीट करने वाले आरोपीगण कुपाराम उम्र 30 वर्ष, गैंदालाल उम्र-37 वर्ष, निहाल उम्र-60 वर्ष, निवासी-गा्रम सनाई रामपुर आरक्षी केन्द्र देहात बासौदा जिला विदिषा को 2000/-2000/- रूपये अथदंड एवं न्यायालय उठने तक की सजा से दण्डित किया गया। अभियोजन घटना इस प्रकार है कि घटना दिनांक 17.06.2016 को लगभग समय शाम 05 बजे गा्रम सनाई की है फरियादिया घर के सामने भैंस के लिये सांधी बना रही थी, तभी उसके गांव के कुपाराम की बकरियां निकली, तो बकरियों को हाथ से भगाया तभी अभियुक्त कुपाराम डण्डा लेकर आया तथा गाली देकर उससे बोला कि बकरियों को क्येां मारा, तब उसने गाली देने से मना किया तो अभियुक्त कुपाराम ने डण्डे से मारपीट की जिससे उसके दोनों हाथों की कलाई के ऊपर व सिर में चोटें आई, चिल्लाने पर उसकी लड़की आई, तो अभियुक्त गैंदालाल व निहाल दोनों भी आ गए और ने उसकी लड़की को लात मारी जो बांयी पसली पर लगी तथा अभियुक्त गैंदालाल ने डण्डे से मारा। लड़की ने बताया कि उसके बांए हाथ की अंगुली में चोट होकर खून निकला। उसके बाद उसकी सास आ गई तथा प्रेमसिंह व रामकुष्ण ने बीच बचाव किया था। अभियुक्तगण जाते समय बोले अब अगर बकरियों को आते-जाते छेड़ा तो जान से खत्म कर देंगे। घटना के पष्चात फरियादिया द्वारा अभियुक्तगण के विरूद्ध आरक्षी केन्द्र देहात बासौदा पहुंच कर अपराध क्रमांक 198/16 धारा 323, 294, 506 भादवि के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट लेखबद्ध कराई गई।

न्यायालय ने विचारण उपरांत आरोपीगण को निर्णय दिनांक 04.10.2021 माननीय न्यायालय श्रीमती सपना शर्मा न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तहसील गंजबासौदा जिला विदिषा के द्वारा दोषसिद्ध पाये जाने पर आरोपीगण कुपाराम, गैदालाला और निहाल सिंह पाल को धारा 323/34 भादवि के अंतर्गत 100/-100/- रूपये, धारा 325/34 भादवि के अंतर्गत 2000/-2000/- रूपये अर्थदंड एवं न्यायालय उठने तक की सजा से दण्डित किया गया। उक्त प्रकरण की पैरवी श्री गोविन्द्र दास आर्य एडीपीओ गंजबासौदा के द्वारा की गयी।



(सुश्री गार्गी झॉ)

मीडिया सेल प्रभारी

जिला विदिषा म0प्र0

Wednesday, September 29, 2021

Mann Samachar

विदिशा मारपीट करने वाले आरोपी को भेजा जेल





विदिशा।  श्री पंकज बुटानी न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी जिला विदिषा ने  अभियुक्त गुलाब सिंह पुत्र श्री मुन्नालाल दरोई आयु 65 वर्ष निवासी ग्राम-महुआखेडा जिला विदिषा को धारा 294, 323 (दो शीर्ष) विकल्प में 324 (दो शीर्ष), 506 (भाग-दो) भारतीय दण्ड संहिता में 06 माह का कारावास एवं 500 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया।अभियोजन घटना संक्षिप्त में इस प्रकार है कि फरियादी रामकेष द्वारा दिनांक 18.12.2017 को थाना हैदरगढ में रिपोर्ट लेख कराई गई कि, दिन के करीब 1.00 बजे वह अपने खेत की मेड पर से अपने ढोर चराकर पानी पिलाने झिरना में ले जा रहा था कि तभी गुलाब सिंह आदिवासी की भैस खेत की मेड पर आ गयी तब उसने गुलाब सिंह से कहा कि उसके गेहू तुम्हारी भैंस खा लेगी तो गुलाब सिंह बोला कि यही चराऊगा व  गुलाब सिंह ने फरियादी की कुल्हाडी से मारपीट की, जिससे उसके शरीर में चोट आकर खून निकलने लगा और वह चिल्लाया तो  उसकी माॅ बालोबाई आकर बीच बचाव करने  लगी तो गुलाब सिंह ने उसकी भी मारपीट की, जिससे उसे चोटें आई तथा भाई जुगराज बीच बचाव करने आया तो गुलाब सिह गुलाब सिह यह कहकर कि आज तो बच गये अब दुबारा मिला तो जान से  खत्म कर दूंगा।

       (सुश्री गार्गी झा)

    मीडिया सेल प्रभारी                   जिला विदिषा म0प्र0

Wednesday, September 22, 2021

Mann Samachar

विदिशा के बासौदा में सनसनीखेज प्रकरण में नाबालिग बालिका के साथ बलात्संग करने वाले अभियुक्त को आजीवन कारावास व 15000/-रूपये के अर्थदंड से दण्डित किया गया




विदिषा। सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी/एस.पी.ओ गंजबासौदा श्री दिनेष कुमार असैया के द्वारा बताया गया कि माननीय न्यायालय श्रीमती नीलम मिश्रा द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीष (पॉक्सो) तहसील गंजबासौदा जिला विदिषा ने आज अपने निर्णय 16.09.2021 को अभियुक्त देषराज अहिरवार पुत्र घासीराम अहिरवार उम्र-23 वर्ष निवासी ग्राम-देहलवाड़ा थाना पठारी हाल मायाखेड़ी जिला इन्दौर  को धारा 366, 376(2)एन भादवि एवं 6 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 में आजीवन कारावास व कुल 15000/-रूपये के अर्थदंड से दण्डित किया गया। अभियोजन घटना संक्षिप्त में इस प्रकार है कि दिनांक 10.03.2019 का पीड़िता के पिता ने थाना त्योंदा में रिपोर्ट दर्ज कराई थी तथा बताया था कि मैं, उसकी पत्नि तथा नाबालिग लड़की खाना खाकर सो गये थे। रात में पत्नि ने बताया कि बेटी घर पर नहीं है बिना बताए कहीं चली गई है जिसकी तलाष रिष्तेदारों ने की कोई पता नही ंचला उसे आरोपी देषराज अहिरवार पर शंका थी कि वह उसकी नाबालिग लड़की को बहलाफुसलाकर भगाकर ले गया है। जिस पर से थाना त्योंदा में अपराध क्रमांक 57/19 धारा 363 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। अभियोक्त्री को दस्तयाब कर उसके 161 व 164 के कथन कराए गए तथा उसका मेडीकल परीक्षण कराया गया एवं डीएनए की कार्यवाही की गई थी। पीड़िता के कथन व अनुसंधान के उपरांत प्रकरण में धारा 366, 376(2)एन, भादवि 3/4, 5/6 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 अभियुक्त को गिरफ्तार कर संपूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।न्यायालय में विचारण उपरांत पीड़िता व साक्षीगणों के कथनप कराए गए एवं प्रकरण में डीएनए रिपोर्ट पॉजीटिव आने से अभियुक्त को दोषसिद्ध पाते हुए धारा 366 में 5 वर्ष का कठोर कारावास व 5000/-रूपये अर्थदंड, 376(2)एन में आजीवन कारावास जो कि शेष प्राकृतिक जीवनकाल के लिये होगा एवं 10,000/-रूपये के अर्थदंड से दंण्डित किया गया।उपरोक्त प्ररकण में पैरवीकर्ता अधिकारी-अतिरिक्त जिला अभियेाजन अधिकारी/अभियोजक श्री मनीष केथोरिया एवं सहायक जिला अभियोजन अधिकारी/एसपीओ दिनेष कुमार असैया द्वारा अभियोजन का संचालन किया गया एवं कोर्ट मोहर्रिर रीतेष तिवारी आरक्षक द्वारा अभियोजन कार्य में पूर्ण सहयोग किया गया। जिससे प्रकरण का निराकरण शीघ्र हुआ।


(सुश्री गार्गी झॉ)

 मीडिया सेल प्रभार

 जिला विदिषा म0प्र0