Mann Samachar - Latest News, breaking news and updates from all over India and world
Breaking News

Saturday, July 24, 2021

Mann Samachar

विदिशा अवयस्क बालिका के साथ गलत काम करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त






विदिशा। माननीय न्यायालय सुश्री प्रतिष्ठा अवस्थी द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो विदिशा द्वारा आरोपी ऋषभ यादव पुत्र संतोष कुमार यादव उम्र 22 वर्ष निवासी ग्राम अरहोली जिला झांसी को भादवि की धारा 363, 366-ए, 376(2)(एन) एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 5(एल)/6 मेें जमानत निरस्त की गई। उक्त मामले में विषेष लोक अभियोजक श्रीमति प्रतिभा गौतम द्वारा जमानत याचिका पर अपराध की गंभीरता के आधार पर जमानत आवेदन का कड़ा विरोध किया गया घटना संक्षिप्त में इस प्रकार है कि आरोपी ऋषभ यादव द्वारा 18 वर्ष से कम आयु की अवयस्क पीड़िता को बहलाफुसला कर अपने साथ हांथरस व झांसी ले गया था और उसके साथ बार-बार गलत काम किया था। जिसकी रिपोर्ट थाना केातवाली जिला विदिषा में लेखबद्ध कराई गई थी। बचाव पक्ष के अधिवक्ता के द्वारा आरोपी ऋषभ यादव की ओर से जमानत आवेदन न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया था, जिसे माननीय न्यायालय के द्वारा आरोपी के कृत्य की गंभीरता एवं प्रकरण की परिस्थितियों एवं महिलाओं के प्रति बढ़ते हुए योन अपराधों को देखते हुए आरोपी ऋषभ यादव का जमानत आवेदन निरस्त कर दिया गया।

(सुश्री गार्गी झाॅ)

      मीडिया सेल प्रभारी

     जिला विदिषा म0प्र0

Mann Samachar

विदिशा अवयस्क गर्भवती बालिका के साथ गलत काम करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त






विदिशा। माननीय न्यायालय सुश्री प्रतिष्ठा अवस्थी द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश पाॅक्सो विदिशा द्वारा आरोपी गौरव केवट पुत्र चंदन सिंह केवट उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम हिनोतिया पुलिस थाना नटेरन जिला विदिषा को भादवि की धारा 376(2)(एन), 376डी, 34 एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 3/4 एवं एस.सी/एस.टी एक्ट की धारा 3(1)(डब्ल्यू)(प), 3(2)(ट) मेें जमानत निरस्त की गई। उक्त मामले में विषेष लोक अभियोजक श्रीमति प्रतिभा गौतम द्वारा जमानत याचिका पर अपराध की गंभीरता के आधार पर जमानत आवेदन का कड़ा विरोध किया गया।घटना संक्षिप्त में इस प्रकार है कि पीड़िता ने दिनांक 14.07.2021 को थाना नटेरन जिला विदिषा पर उपस्थित होकर आरोपी गौरव केवट के विरूद्ध यह रिपोर्ट लेखबद्ध कराई थी कि आरोपी गौरव केवट पीड़िता को अपनी मोटर साईकिल से गरोद ले गया था और पीड़िता के साथ जबरदस्ती गलत काम किया था। जिस समय आरोपी के द्वारा पीड़िता के साथ गलत काम किया था उस समय वह 5 माह की गर्भवती थी और 18 वर्ष से कम आयु की थी। बचाव पक्ष के अधिवक्ता के द्वारा आरोपी गौरव केवट की ओर से जमानत आवेदन न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया था, जिसे माननीय न्यायालय के द्वारा आरोपी के कृत्य की गंभीरता एवं प्रकरण की परिस्थितियों एवं महिलाओं के प्रति बढ़ते हुए योन अपराधों को देखते हुए आरोपी गौरव केवट का जमानत आवेदन निरस्त कर दिया गया।

(सुश्री गार्गी झाॅ)

      मीडिया सेल प्रभारी

     जिला विदिषा म0प्र0

Mann Samachar

विदिशा छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को न्यायालय ने सुनाया 01 वर्ष का सश्रम कारावास




विदिषा। विशेष सत्र न्यायालय अनु.जाति/जनजाति (अत्याचार निवारण अधिनियम) विशेष न्यायाधीश श्रीमति माया विश्वलाल ने आरोपी जगन्नाथ सिंह पुत्र खूब सिंह उम्र-22 वर्ष, निवासी-टपरा सुमेर थाना गुलाबगंज जिला विदिशा को भादवि की धारा 354(क)(1)(1) भादवि में 01 वर्ष की सजा एवं 1000/- रूपये जुर्माना, 323 भादवि में न्यायालय उठने तक की सजा व 1000/-रूपये जुर्माना एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा 3(1)(11) में 1 वर्ष का सश्रम कारावास  एवं 1,000/-रूपये अर्थदंड की सजा से दंडित किया। उक्त मामले में डीडीपी/विशेष लोक अभियोजक आई.पी. मिश्रा द्वारा मामले को संदेह से परे प्रमाणित किया गया तथा उनके साक्ष्य से न्यायालय ने सहमति जताई।घटना इस प्रकार है कि, दिनांक 28.05.2013 को रात करीब 09ः00 बजे पीड़िता खाना खाकर अपने घर के आंगन में सो रही थी एवं उसका पति भी उसके साथ सो रहा था। सुबह करीब 05ः00 बजे उसका पति लैट्रिंग करने घर के पिछवाड़े मैदान में चला गया। पीड़िता को अकेला देखकर अभियुक्त जगन्नाथ सिंह आया और उसका मुंह दबा दिया और बुरी नियत से उसका हाथ पकड़कर सीना दबाने लगा। पीडिता के चिल्लाने पर उसका पति आ गया था। पति को आया देख आरोपी जगन्नाथ सिंह भागने लगा जब पीड़िता के पति ने आरोपी को पकड़ा तो आरोपी ने पीड़िता के पति के साथ मारपीट की और छूटकर भाग गया। उक्त घटना की रिपोर्ट पीड़िता के द्वारा आरक्षी केन्द्र  गुलाबगंज में लेखबद्ध कराई गई थी। विवेचना उपरंात अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष पेष किया गया था।प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी विषेष लोक अभियोजक/उपसंचालक (अभियोजन) आई.पी. मिश्रा ने की थी। 

    मीडिया सेल प्रभारी

    जिला विदिषा

Tuesday, July 20, 2021

Mann Samachar

विदिशा छुरी मारने वाले आरेापीगण को 06-06 माह का कारावास और 500/-500/-रूपये अर्थदंड से दण्डित किया गया




विदिशाः- माननीय न्यायालय श्रीमान राहुल निरंकारी न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी गंजबासौदा द्वारा छुरी मारने वाले आरोपीगण को 06-06 माह का कारावास और 500/- 500/- रूपये अर्थदंड से दण्डित किया गया।घटना इस प्रकार है कि दिनांक 28.05.2014 के करीब 07ः30 बजे ग्राम गमाखर जिला विदिशा में फरियादिया खेरे में अपनी मवेशी लेकर चराने गयी थी, तभी उसकी गाय उसके जेठ आरोपी बालाराम पाल के आगन में चली गयी। इसी बात पर आरोपी बालाराम तथा उसके लड़के सुनील व राजपाल तीनों उसे गंदी-गंदी अश्लील गालियां देने लगे, उसने गालियां देने से मना किया तो अभियुक्त बालाराम उसके चेंट गया और अभियुक्त सुनील ने उसे सीधे हाथ की कलाई से छुरी मारी, जिससे उसे खून निकल आया तथा विधि विरूद्ध बालक राजपाल ने उसकी चोटी पकड़कर जमीन पर गिरा दिया और एक डण्डा मारा, जिससे आहत को मूंदी चोट आयी थी। घटना गांव के परमाल सिंह खंगार और शिवराज पाल ने देखी व बीच बचाव किया तीनों उससे कह रहे थे कि आइन्दा उनके घर में मवेशी आये तो जान से खत्म कर देंगे। फरियादिया की रिपोर्ट पर से थाना गंजबासौदा अपराध क्रमांक 393/2014 धारा 294, 506 भाग-2, 324/34 भादवि की प्रथम सूचना रिपोर्ट लेख की।न्यायालय में विचारण उपरांत आरोपीगण को आज निर्णय दिनांक 16.07.2021 माननीय न्यायालय श्रीमान राहुल निरंकारी न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी गंजबासौदा के द्वारा दोषसिद्ध पाये जाने पर आरेापीगण बालाराम पाल उम्र-45 वर्ष और सुनील पाल उम्र-22 वर्ष    निवासीः- ग्राम गमाखर, दुर्गा मंदिर एवं 500/- 500/- रूपये अर्थदंड से दण्डित किया गया।  उक्त प्रकरण की पैरवी श्री गोविंद दास आर्य एडीपीओ  गंजबासौदा के द्वारा की गई।

(सुश्री गार्गी झाॅ)


मीडिया सेल प्रभारी

  जिला विदिषा

Friday, July 16, 2021

Mann Samachar

विदिशा चेहरे पर तेजाब की धमकी देने वाले आरोपी को न्यायालय ने सुनाई एक साल की सजा



विदिशा। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सुश्री सोनल गुप्ता के न्यायालय ने आरोपी अभिषेक मिश्रा पुत्र ब्रजमेाहन मिश्रा उम्र-34 वर्ष निवासी मेघदूत टाॅकीज की सामने, कागदीपुरा जिला विदिशा को धारा 509, 506 भाग-2 भादवि में एक-एक वर्ष कारावास व एक-एक हजार रूपये अर्थदंड की सजा सुनाई। प्रकरण की पैरवी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी ज्योति कुजूर द्वारा की गई।घटना इस प्रकार है कि, फरियादिया ज्ञानगंगा काॅलेज में बीई चतुर्थ वर्ष की छात्रा है। फरियादिया विदिशा में अपने परिवार के साथ निवास करती है व प्रतिदिन बस से भोपाल आती-जाती है। दिनांक 04.03.2014 को दोपहर करीब 12ः30 बजे जब फरियादिया व उसकी सहेली पैदल घर से बाजार आ रहे थे तब अतुल गैस एजेंसी के पास गली में अभियुक्त अभिषेक मिश्रा ने फरियादिया से उसकी दोस्त बन जाने का कहा और फरियादिया का मोबाइल नंबर मांगा जब फरियादिया ने मना किया तो अभियुक्त फरियादिया के साथ बद्तमीजी करने लगा। फरियादिया जब अपने भाई को फोन लगाने लगी तो अभियुक्त भाग गया और जाते-जाते बोला कि अगर घर पर किसी को बताया या रिपोर्ट की तो एसिड चेहरे पर फेंककर चेहरा खराब कर देगा जिससे फरियादिया किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहेगे व उसे बदनाम कर देगा। आरोपी करीब छः महिने से फरियादिया को आते-जाते समय परेशान कर रहा था। फरियादिया से मोबाइल नंबर मांगता था तो फरियादिया ने अभियुक्त को डांट दिया था। घटना की रिपोर्ट फरियादिया ने आरक्षी केन्द्र कोतवाली विदिशा में अपराध क्रमांक 134/14 पर लेखबद्ध कराई।प्रकरण में सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी ज्येाति कुजूर ने मामले को संदेह से परे प्रमाणित किया। अभियोजन द्वारा दिए गए तर्कों से सहमत होते हुए न्यायालय ने आरोपी जसवंत को एक वर्ष कारावास की सजा सुनाई। 


मीडिया सेल प्रभारी

  जिला विदिषा